ALL भारत खबर लोकल खबर ब्रेकिंग न्यूज़ कोरोना अन्य हेडलाइन ऑटो मोबाइल टेक लोकल अपडेट ब्रेकिंग विडियो गैलरी
महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु में जमातियों की तलाश, कई क्वारनटीन
April 1, 2020 • dr nisha nigam • कोरोना

पूरे देश में तबलीगी जमात के मरकज पर आए लोगों की तलाश तेज हो गई है. मुंबई के एक मस्जिद से 13 बांग्लादेशी नागरिकों को हिरासत में लिया गया है. केरल में भी मरकज से लौटे कई लोगों को क्वारनटीन किया गया है.

  • कर्नाटक में 40 लोग क्वारनटीन

     

     

पूरे देश में तबलीगी जमात के मरकज पर आए लोगों की तलाश तेज हो गई है. मुंबई के एक मस्जिद से 13 बांग्लादेशी नागरिकों को हिरासत में लिया गया है. केरल में भी मरकज से लौटे कई लोगों को क्वारनटीन किया गया है. तमिलनाडु सरकार ने लोगों से अपील की है कि जो लोग मरकज गए थे, वह आकर अपना टेस्ट करा लें.

ठाणे के मुंब्रा कौसा मस्जिद से 13 बांग्लादेशी नागरिकों को हिरासत में लिया गया है. यह लोग 9 मार्च को निजामुद्दीन गए थे. इसके बाद 10 मार्च को नवी मुंबई आए. उसके बाद ठाणे और मुंब्रा गए. अभी तक कि जानकारी के मुताबिक, इन्होंने 18 तारिख का मरकज नहीं अटेंड किया था.

सबको किया गया क्वारनटीन

हालांकि, सबको होम क्वारनटीन किया गया है. इसके अलावा सबका मेडिकल टेस्ट किया गया और कोरोना जांच के लिए सैंपल भेजा गया है. वहीं, तमिलनाडु के मुस्लिम बाहुल्य जिलों में लोगों से अपील की गई है कि जो लोग निजामुद्दीन गए थे, वह अपना कोरोना टेस्ट करा लें.

कर्नाटक में भी 40 लोग क्वारनटीन

वहीं, कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने कहा कि हमारे पास जानकारी है कि कर्नाटक से लगभग 300 लोगों ने निजामुद्दीन स्थित जमात के मरकज में हिस्सा लिया, हमने 40 लोगों का पता लगाया और उन्हें क्वारनटीन किया गया है. 40 में से 12 लोगों का रिजल्ट निगेटिव आया है.

विदेश से आए 12 लोग भी क्वारनटीन

स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने कहा कि 62 लोग इंडोनेशिया और मलेशिया से थे, जो दिल्ली की घटना के बाद कर्नाटक आए थे, उनमें से 12 क्वारनटीन किया गया है. बाकी लोगों की तलाश गृह मंत्रालय क रहा है, जल्दी ही हम उनको भी क्वारनटीन करेंगे.

केरल के 20 लोग गए थे मरकज

केरल सरकार के सूत्रों का कहना है कि कम से कम 20 लोगों ने निजामुद्दीन मरकज में हिस्सा लिया था. इसमें पठानमथिट्टा के 7 लोग हैं, जिसमें 3 अभी भी दिल्ली में हैं. इसके अलावा अलप्पुझा के 5, कोट्टयम के 4, तिरुवनंतपुरम के 2 और वायनाड-त्रिशूर-कन्नूर के एक-एक लोग हैं. सबका टेस्ट किया जा रहा है.