ALL भारत खबर लोकल खबर ब्रेकिंग न्यूज़ कोरोना अन्य हेडलाइन ऑटो मोबाइल टेक लोकल अपडेट ब्रेकिंग विडियो गैलरी
प्राइवेट सेक्टर में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाली कंपनी बनी क्वेस कॉर्प, टाटा कंसल्टेंसी को भी पछाड़ा
February 11, 2020 • dr nisha nigam

निजी सेक्टर में सबसे ज्यादा नौकरी पैदा करनेवाली का क्या है काम . आंकड़ा देखेंगे तो निजी सेक्टर की कंनपनियों में टाटा कंसल्टेंसी का नंबर आएगा. लेकिन ऐसा नहीं है. बेंगलुरू में एक कंपनी तेजी से तरक्की कर रही है. यहां तक उसने कर्मचारियों की साइज को भी मात दे दी है.

कर्नाटक: बेंगलुरू में एक उभरती हुई कंपनी इन दिनों बहुत चर्चा में है. इसके पीछे वजह है उसके वर्कफोर्स के आकार का बड़ा होना. यहां तक कि टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज को भी निजी क्षेत्र के कर्मियों की संख्या के मामले में पछाड़ दिया है. निजी क्षेत्र में नौकरियां देने के मामले में टाटा कंसल्टेसी से भी कंपनी टॉप पर पहुंच गयी है.

 

कंपनी के पास कर्मियों की संख्या में वृद्धि
‘क्वेस कॉर्प’ निजी सेक्टर में सबसे ज्यादा कर्मचारियों वाली कंपनी बन गयी है. तिमाही फाइलिंग के मुताबिक, कंपनी के पास 3 लाख 85 हजार कर्मचारी और सहयोगियों की संख्या है. अभी निजी सेक्टर की कंपनी टाटा कंसल्टेंसी के पास कर्मचारियों की संख्या 3.56 लाख है. टाटा कंसल्टेंसी का ये आंकड़ा विदेश में काम कर रहे कर्मियों को छोड़कर है. टाटा कंसल्टेंसी से नीचे इंफोसिस में 2.43 लाख कर्मचारी हैं. इस तरह ‘क्वेस कॉर्प’ भारत में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी नौकरी प्रदाता कंपनी है.

 

2016 से ‘क्वेस कॉर्प’ ने हर साल 38 फीसद की दर से वृद्धि की है. कंपनी को एक दशक पहले उद्यमी अजीत इसाक ने खड़ा किया था. कंपनी का दावा है कि ये अपने कर्मचारियों को प्रोविडेंट फंड और इश्योरेंस की सुविधा मुहैया कराती है. इसके 70 फीसद वर्कफोर्स की औसत वेतन 12000-40000 रुपये तक है. शेयर बाजार में कंपनी 2016 में लिस्टेड हुई थी.

 

क्या है कंपनी का प्रमुख तौर पर काम ?
‘क्वेस कॉर्प’ कई संस्थाओं को कई तरह की सेवाएं मुहैया कराती है. यहां तक कि विधि, लेखांकन, बुक कीपिंग, ऑडिटिंग गतिविधि, टैक्स सलाह, बाजार रिसर्च और पब्लिक राय, कारोबार, प्रबंधनकीय सुझाव जैसी  सेवाएं देती है. कंपनी दूसरी कंपनियों को तेजी से तरक्की करने में मदद करती है. इसके अलावा कंपनी अपने कार्यबल को सही मौका देती है ताकि उन्हें अपनी योग्यता का एहसास रहे. कंपनी अुपने वर्कफोर्स के लिए ट्रेनिंग से लेकर काम करने तक के अवसर देती है. इसके लिए कंपनी में हर साल एक मिलियन लोगों का कंपनी इंटरव्यू किया जाता है.