ALL भारत खबर लोकल खबर ब्रेकिंग न्यूज़ कोरोना अन्य हेडलाइन ऑटो मोबाइल टेक लोकल अपडेट ब्रेकिंग विडियो गैलरी
YES बैंक खाताधारकों के लिए अच्छी खबर, 18 मार्च से बिना लिमिट निकाल सकेंगे पैसा
March 16, 2020 • dr nisha nigam • लोकल खबर

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि कोरोना वायरस से भारतीय इकोनॉमी ग्रोथ को भी झटका लगेगा. उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक कोरोना का अर्थव्यवस्था पर कम असर पड़े उसपर काम कर रहा है.

 

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि कोरोना वायरस से भारतीय इकोनॉमी ग्रोथ को भी झटका लगेगा. उन्होंने कहा कि केंद्रीय बैंक कोरोना का अर्थव्यवस्था पर कम असर पड़े उसपर काम कर रहा है.

येस बैंक को लेकर RBI का प्लान

शक्तिकांत दास ने कहा कि येस बैंक के ग्राहकों को राहत देने के लिए बड़ी तेजी से काम किया जा रहा है. बुधवार से येस बैंक से पैसा निकालने के लिए लगाई गई रोक हटा दी जाएगी. यानी ग्राहकों अपने खातों से 50 हजार रुपये से ज्यादा निकाल पाएंगे. ये पाबंदी बुधवार की शाम 6 बजे खत्म हो जाएगी.

इसके अलावा उन्होंने कहा कि येस बैंक में डिपॉजिट करने वाले ग्राहकों के पैसे बिल्कुल सुरक्षित है, उन्हें किसी तरह से घबराने की जरूरत नहीं है. येस बैंक का नया बोर्ड 26 मार्च से कामकाज संभालेगा.

शक्तिकांत दास ने कहा कि भारतीय बैंकिंग सिस्टम पूरी तरह से सुरक्षित है. लोग अफवाहों पर ध्यान न दें. उन्होंने येस बैंक के ग्राहकों से कहा कि वह किसी तरह से घबराएं नहीं, उनका पैसा सुरक्षित है और आगे भी रहेगा.

कोरोना वायरस की वजह से घटेगी ग्रोथ

शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) मानवीय त्रासदी बनता जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस संकट की वजह से दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों ने कदम उठाएं हैं. इससे दुनिया की इकोनॉमी प्रभावित हुआ है, जिसका असर भारतीय इकोनॉमी पर भी हो रहा है. कोविड-19 की वजह से भारतीय ग्रोथ घट सकती है. हालांकि उन्होंने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोई रेट कट का ऐलान नहीं किया.

 

गौरतलब है कि अमेरिकी फेड रिजर्व ने एक महीने में दूसरी बार रेट किया है. रविवार, 15 मार्च को फेड रिजर्व ने आर्थिक मंदी से बचने और इकोनॉमी में लिक्विडिटी बनाए रखने के लिए रेट कट किया है. इससे पहले अमेरिकी फेड रिजर्व ने 3 मार्च को रेट कट किया था. फेड रिजर्व के अलावा, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूरोपीय यूनियन के केंद्रीय बैंकों ने भी रेट कट किया है.